CBSE Class 10 Hindi Unseen Passage B

 CBSE Class 10 Hindi Unseen Passage B. Students should do unseen passages for class 10 Hindi which will help them to get better marks in Hindi class tests and exams. Unseen passages are really scoring and practicing them on regular basis will be very useful. Refer to the unseen passage below with answers. 

अपठित गद्यांश 

ईर्ष्या का यही अनोखा वरदान है| जिस मनुष्य के हृदय में घर बना लेती है, बल्कि उन वस्तुओं से दु:ख उठाता है, जो दूसरों के पास है| वह अपनी तुलना दूसरों के साथ करता है और इस तुलना में अपने वक्ष के सभी अभाव उसके हृदय पर दंश मारते रहते हैं| दंश के इस राह को भोगना कोई अच्छी बात नहीं है| मगर, ईर्ष्यालु मनुष्य करें भी तो क्या? आदत से लाचार होकर उसे यह वेदना भोगनी पड़ती है|

एक उपवन को पाकर भगवान को धन्यवाद देते हुए उसका आनंद नहीं लेना और बराबर इस चिंता में निमग्न रहना कि इससे भी बड़ा उपवन क्यों नहीं मिला? एक ऐसा दोष है जिससे ईर्ष्यालु व्यक्ति का चरित्र और भी भयंकर हो उठता है| अपने अभाव पर दिन-रात सोचते-सोचते वह सृष्टि की प्रक्रिया को भूल कर विनाश में लग जाता है और अपनी उन्नति के लिए उधम करना छोड़कर वह दूसरों की हानि पहुंचाने को ही अपना श्रेष्ठ कर्तव्य समझने लगता है|

ईर्ष्या की बड़ी बेटी का नाम निंदा है| जो व्यक्ति ईर्ष्यालु होता है, वही व्यक्ति बुरे किस्म का निंदक भी होता है| दूसरों की निंदा वह इसलिए करता है कि इस प्रकार, दूसरे लोग जनता अथवा मित्रों की आंखों से गिर जाएंगे और तब जो स्थान रिक्त होगा उस पर अनायास में ही बिठा दिया जाऊंगा|

मगर, ऐसा ने आज तक हुआ है और आगे होगा| दूसरों को गिराने की कोशिश तो अपने को बढ़ाने की कोशिश नहीं कही जा सकती| एक बात और है कि संसार में कोई भी मनुष्य निंदा से नहीं गिरता| उसके पतन का कारण अपने ही भीतर के सद्गुणों का हस्स होता है| इसी प्रकार कोई भी मनुष्य दूसरों की निंदा करने से अपनी उन्नति नहीं कर सकता| उन्नति तो उसकी तभी होगी, जब वह अपने चरित्र को निर्मल बनाए|

ईर्ष्या का काम जलना है, मगर सबसे पहले वह उसी को जलाती है जिसके हृदय में उसका जन्म होता है| आप भी ऐसे बहुत से लोगों को जानते होंगे जो ईर्ष्या और द्वेष को साकार मूर्ति है|

उपरोक्त गद्यांश के आधार पर पूछे गए प्रश्नो के उत्तर लिखिए |

1.उपयुक्त गद्यांश के लिए एक उचित शीर्षक लिखिए|

2.ईर्ष्यालु मनुष्य अपनी किस आदत से लाचार होकर कष्ट उठाता है|

3.ईर्ष्यालु व्यक्ति दूसरों की निंदा क्यों करता है?

4.ईर्ष्या का अनोखा वरदान क्या है?

5.‘साकार’ शब्द का विग्रह कीजिए संधि का नाम लिखिए|

उपरोक्त प्रश्नो के संभावित उत्तर:-

1.उपयुक्त गद्यांश के लिए उचित शीर्षक- ईर्ष्या|

2.ईर्ष्यालु व्यक्ति की आदत बन जाती है कि वह अपनी तुलना दूसरों से करता है कुछ वस्तुएँ दूसरों के पास होती है और उसके पास नहीं होती यह बात उसको दु:ख देती है| वह अपने पास होने वाली वस्तुओं का आनंद प्राप्त न करके जो चीजें उसके पास नहीं है, उनके अभाव से दु:खी बना रहता है और जलता रहता है| अपनी इसी आदत के कारण वह कष्ट उठाता है|

3.ईर्ष्यालु व्यक्ति को दूसरों की निंदा करने में आनंद आता है| वह यह सोच कर दूसरों की निंदा करता है कि ऐसा करने से वह जनता और मित्रों की नजर में गिर जायेंगे| उनके रिक्त हुए स्थान पर उसको बैठने और आगे बढ़ने का अवसर मिल जायेगा| वह दूसरों को गिराकर स्वयं आगे बढ़ना चाहता है लेकिन ऐसा होता नहीं है| निंदा करने से कोई व्यक्ति नीचे नहीं गिरता| ईर्ष्यालु व्यक्ति इस सच्चाई को नहीं समझता और दूसरों को बदनाम करके स्वयं आगे बढ़ने के विचार में निंदा करने के काम में लगा रहता है|

4.जिस मनुष्य के हृदय में घर बना लेती है, बल्कि उन वस्तुओं से दु:ख उठाता है, जो दूसरों के पास है| वह अपनी तुलना दूसरों के साथ करता है और इस तुलना में अपने वक्ष के सभी अभाव उसके हृदय पर दंश मारते रहते हैं| दंश के इस राह को भोगना कोई अच्छी बात नहीं है|

5.विग्रह - स+आकार

संधि - दीर्घ संधि

 


Click for more Hindi Study Material

Latest NCERT & CBSE News

Read the latest news and announcements from NCERT and CBSE below. Important updates relating to your studies which will help you to keep yourself updated with latest happenings in school level education. Keep yourself updated with all latest news and also read articles from teachers which will help you to improve your studies, increase motivation level and promote faster learning

CBSE Reduced Syllabus Class 11 and 12

CBSE has announced major reduction in the syllabus for class 11 and class 12. There has been major changes too in the main syllabus for class 11 and 12. The prevailing health emergency in the country and at different parts of the world as well as the efforts to contain...

Training Programme on the Alternative Academic Calendar

In view of the extraordinary situation prevailing in the world due to COVID-19 pandemic, the CBSE Board had announced the ‘Revised Academic Curriculum for classes 9- 12 for the session 2020-21’. The reduced topics will not be part of the internal assessment or for the...

CBSE Decision on Board Exam 2020

The Class 10 and 12 exams are cancelled, and results for both 10th and 12th would be declared by July 15 based on internal exams. CBSE Class 12 students would have the option to appear for the exams at a later date. CBSE has a scheme in which marks scored in past 3...

Internal Assessments and CBSE Reduced Syllabus

CBSE on 7th July 2020 had announced the ‘Revised Academic Curriculum for classes IX-XII for the session 2020-21’ to mitigate the effect of face to face learning loss due to the closure of schools to contain COVID-19 Pandemic. The rationalization of syllabus up to 30% ...

Re verification of Class 10 Board Exams Marks

Modalities and Schedule for Secondary School (Class X) Examinations, 2020 in the subjects whose examinations have been conducted by CBSE for the processes of (I) Verification of Marks (II) Obtaining Photocopy of the Evaluated Answer Book(s) (Ill) Re-evaluation of Marks...

×
Studies Today