NCERT Solutions Class 3 Hindi पाठ 10 क्योंज़ीमल और कैसे कैसलिया

Scroll down to download pdf file

NCERT Solutions for Class 3 Hindi for पाठ 10 क्योंज़ीमल और कैसे कैसलिया

तुम्हारी समझ में क्या आया?
प्रश्न 1. गुरु जी थैली में क्या लिए जा रहे थे?
उत्तर-
 गुरु जी थैली में गेंहूँ पिसवाने के लिए ले जा रहे थे|

प्रश्न 2. क्योंजीमल और कैसे-कैसलिया से मिलने पर तुम दोनों के बीच मेक्यो भटकते रह जाओगे?
उत्तर-
क्योंजीमल और कैसे-कैसलिया से मिलने पर हम दोनों के बीच में भटकते रह जायेंगे क्योंकि उन दोनों में क्यों और कैसे प्रश्न कभी भी ख़त्म नहि होंगे|

 

प्रश्न 3. शिवदास ने गुरु जी की थैली देखकर अपनी साइकिल क्यों दे दी|
उत्तर-
क्योंकि शिवदास ने सोच गुरु जी गेंहूँ की थैली इतना दूर पैदल कैसे ले जाएँगे|


रोटी एक, नाम अनेक
प्रश्न 1. रोटी को अलग-अलग जगहों पर अलग-अलग नाम से पुकारा जाता है| कुछ और नाम पता करके लिखो|
उत्तर-
फुल्का चपाती पराठा नाम

प्रश्न 2. तुम्हारे घर में आटा सानने को क्या कहते हैं?
आटा गूँधना आटा गलाना आटा मलना या कुछ और
उत्तर-
हमारे घर में आटा सानने को आटा गूँधना कहते है|

प्रश्न 3. गुरु जी कौन – से आटे की रोटी खाते थे ? अपने साथियो , घर के बड़ों से पता करो कि क्या किसी और चीज़ की रोटी भी बनती है ? उनके नाम लिखो | यदि उनका दाना या बाली मिलती है तो उसे अपनी कॉपी में चिपका दो|
उत्तर –
गुरु जी गेहूँ के आटे की रोटी खाते थे| बाजरे, मक्का, ज्वार, जौ, चना की रोटी बनती है|
(नोट:- बाजरा, मक्का, ज्वार, जौ, चना के दाने आसानी से मिल जाते हैं इसलिए छात्र दानों को अपनी कॉपी पर स्वयं चिपकाएँ|)

प्रश्न 4. रोटी क्या ऐ से बनेगी?
आटे को सा नेंगे गेहूँ को पिसवाए ँ गे , आ ग पर फु लाएँगे , त वे पर पकाए ँ गे , चकले पर बेलेंगे, गरम-गरम खाए ँ गे|
* नहीं ? तो फिर कैसे ? तो फिर , कैसे?
उत्तर –
गेहूँ को पिसवाएँगे, आटे को सानेंगे, चकले पर बेलेंगे, तवे पकाएँगे, आग पर फुलाएँगे, गरम-गरम खाएँगे|

प्रश्न 5. गुरू जी ने कैसे -कैस लिया को समझाया कि आटा कैसे सा ना जाता है | अब तुम घर पर किसी को रोटी बेल ते देखो और लिखो की रोटी कैसे बे ली जाती है|
उत्तर –
सने आटे में से थोड़ा-सा आटा लेते हैं फिर उसका गोल-गोल पेड़ा बनाते हैं | उस पर सूखा आटा लगाकर चकले पर रखकर गोल-गोल बेलते हैं|


प्रश्न रोटी बनाने के लिए कितना कुछ काम करना पड़ता है, जैसे- सानना, बेलना आदि| पता करो और लिखो की इन्हें बनाने के लिए क्या करना पड़ता है-
*चाय बनाने के लिए
उत्तर-
चाय बनाने के लिए एक पतीले में पानी लेकर गैस जलाकर, पतीले को उस पर रखते हैं| उस पानी में चाय की पत्ती डालते हैं| कुछ देर उबलने के बाद दूध और चीनी डालते हैं| उबल जाने पर छलनी से कप में छान देते हैं|

*सब्जी बनाने के लिए
उत्तर –
पहले सब्जी छीलते व काटते हैं काटने के बाद धोते हैं| गैस पर कढ़ाई रखकर तेल गर्म करते हैं| गरम तेल में जीरा, प्याज, लहसुन, मसाला आदि भूनकर सब्जी डालकर, थोड़ा-सा पानी डाल कर ढक देते हैं| सब्जी अच्छी तरह पक जाने पर गैस से उतार लेते हैं|

*दाल बनाने के लिए
उत्तर –
पहले दाल साफ करते व धोते हैं उसके बाद पतीले में पानी डालकर तथा आँच पर रखते हैं| पानी उबलने पर दाल को उसमें डालते हैं| दाल पानी में अच्छी तरह मिल जाए, तो उसको गैस से उतार देते हैं| फिर एक कटोरी में घी डालकर तथा जीरा, प्याज तथा अन्य मसाले डालकर, पकाकर कढ़ाई में छौंक लगाते हैं| इस तरह दाल पकाई जाती है|

*हलवा बनाने के लिए
उत्त र-
कढ़ाई को आँच पर रखकर आटा या सूजी डालते हैं| उसमें घी डालकर मंदी आँचपर गुलाबी होने तक भूनते हैं| फिर पानी डालकर धीरे-धीरे हिलाते हैं| गाढ़ा होने पर चीनी डालते हैं| घी छोड़ने पर हलवा तैयार हो जाता है|

*लस्सी बनाने के लिए
उत्तर –
पहले दही को किसी गहरे बर्तन में डालकर रई से बुलाते हैं फिर चीनी और बर्फ डालकर घुमाते हैं| इस तरह लस्सी तैयार हो जाती है|


दाम
प्रश्न- नीचे कुछ आटों के नाम लिखे हैं| उनके दाम पता करो|
उत्तर-

नामवज़नदाम
मक्की
चना
1 किलो
1 किलो
14 रूपए
17-18 रूपए


आस-पास
प्रश्न- हम गेंहूँ पिसवाने आटा-चक्की पर जाते हैं| हम इन कामों के लिए कहाँ जाते हैं?

प्रश्नउत्तर-
आटा खरीदनेपरचॅून या चक्की वाले की दुकान पर
पंचर बनवाने
दूध खरीदने
पंचर लगाने वाले की दुकान पर
मदर डेयरी या दी.एम.एस. की दुकान पर
जुते की मरम्मत करवानेमोची की दुकान पर
सुराही खरीदनेकुम्हार की दुकान पर
कॉपी-किताब खरीदनेस्टेशनरी वाले की दुकान पर
बाल कटवानेनाई की दुकान पर या ब्यूटी पार्लर पर

प्रश्न- अपने घर के पास ही आटा – चक्की पर जाओ और पता करो कि-
*वहाँ क्या-क्या पिस ता है?
उत्तर –
चक्की पर गेहूँ, बाज़रा, मक्का व चना पिसता है|

* आटा चक्की किस ची ज़ से चलती है?
उत्तर-
आटा-चक्की बिजली से चलती है|

* दिन में चक्की को कितनी बार रोका जाता है?
उत्तर-
दिन में चक्की को तीन-चार बार रोका जाता है|


कैसे बनेगी रोटी
प्रश्न- पाठ्यपुस्तक पृष्ठ-91 पर रसोई की कुछ चीज़ों के चित्र बने हैं उन्हें देखकर बताओ कि रोटी बनाने में कौन-कौन सी चीज़ इस्तेमाल नहीं होती| तो सी चीजों का इस्तेमाल किस काम के लिए किया जाएगा? लिखो|
उत्तर-
(चित्र के लिए पाठ्यपुस्तक में देखें)

 
सामान का नामइस्तेमाल
कप प्लेट
लोटा
अचार डिब्बा
कड़ाही
चाय पीने में
पानी पिने में
अचार रखने के लिए
सब्ज़ी बनाने के लिए
Click on the text For more study material for Hindi please click here - Hindi

Latest CBSE News

  • We all know CBSE has conducted every year board exams for class 10. As soon as we land in class 10, everyone starts suggesting different things. They tell us to study hard because this is the first step towards your career. If you are willing to take science stream in class 11th and 12th, then it is very important to get good marks in class 10. So that you can easily take your stream. Check out...
  • A computer has become very much important nowadays because it can perform tasks very easily, accurate and fast. Due to the increasing usage of computers, there are so many jobs available in enormous fields. If you are interested in working in fields of computers then these are the 3 main courses available for you i.e. BCA, B.TechComputer Science and B.Sc Computer Science. It may become confusing...
  • While the long-standing standards for picking streams in our nation have settled that toppers and tutorially-skilled undergrads normally float towards science, it's pursued being toppled. Undergrads, today, are proactively picking the business stream, regardless of their scholarly standing. In this way, in case you're needing to pick your stream once you are done with tenth, or have just settled...
  • As it is the beginning of a new school year, every 11th class CBSE passed student is eager and making plans on how to score the best in their class 12th CBSE boards. It definitely is a good start to reach their goal of scoring 90+ percentages in the exams. Students who have opted for the science stream often get very stressed upon how they are going to perform, let me tell you something…scoring a...
  • The Indian Board of Education is divided into two boards, CBSE and ICSE. According to the different features of the boards people choose to study in the board the prefer more. The Central Board of Secondary Education (CBSE) is a national level board of education conducted and run by the Union Government of India. It was formed 56 years ago on 3rd November 1962. It is for public and private...
  • As per the latest updates, the Central Board of Secondary Education (CBSE) is thinking to stop many of its subjects. There are existing subjects in which students don’t take interest at all. In past few years there are subjects which are not entertained by the students so CBSE feels that these are better to shut these kind of subjects. The CBSE board has asked for suggestions from the schools...
  • If you’re the one who opted for the medical stream because you liked studying biology. Unfortunately, you have been unable to clear the NEET exam and now worried about their future. Actually, most people think that career options for PCB end at medical. Today in this article we will be talking about some of the career options for PCB stream which students can pursue after class 12th. Here is the...